प्रवेश दिशा निर्देश

अ. आईआईसीडी 2020-21 प्रवेश के लिए क्राफ्ट एंड डिज़ाइन में निम्नलिखित स्नातक और स्नातकोत्तर डिग्री कार्यक्रम प्रस्तावित करता है
क्रम संख्या पाठ्यक्रम और विशेषज्ञता पात्रता अवधि सीटों की संख्या
14 वर्षीय स्नातक कार्यक्रम (बी.डिज़ाइन) में विशेषज्ञताएं:
1. सॉफ्ट मटिरीअल डिज़ाइन
2. हार्ड मटिरीअल डिज़ाइन
3. फायर्ड मटिरीअल डिज़ाइन
4. फैशन डिज़ाइन
• मान्यता प्राप्त शिक्षण बोर्ड से 10+2
• क्वालिफाइंग परीक्षा में बैठने वाले छात्र भी आवेदन के लिए योग्य हैं
04 वर्ष (1+3 वर्ष )/08 सेमेस्टर 120
2 5 वर्षीय इंटीग्रेटेड मास्टर्स प्रोग्राम (एम. वाॅक) में विशेषज्ञताएंः

1. सॉफ्ट मटिरीअल डिज़ाइन
2. हार्ड मटिरीअल डिज़ाइन
3. फायर्ड मटिरीअल डिज़ाइन
4. फैशन डिज़ाइन
• मान्यता प्राप्त शिक्षण बोर्ड से 10+2
• क्वालिफाइंग परीक्षा में बैठने वाले छात्र भी आवेदन के लिए योग्य हैं
5 वर्ष (1+3+1)/10 सेमेस्टर 25
32 वर्षीय मास्टर्स (एम.एड.) में विशेषज्ञताएंः

1. सॉफ्ट मटिरीअल डिज़ाइन
2. हार्ड मटिरीअल डिज़ाइन
3. फायर्ड मटिरीअल डिज़ाइन
• डिज़ाइन और वास्तुकला विषय में स्नातक 2 साल 04 सेमेस्टर 45
4 3 वर्षीय मास्टर्स (एम.डिज़ाइन) में विशेषज्ञताएंः

1. सॉफ्ट मटिरीअल डिज़ाइन
2. हार्ड मटिरीअल डिज़ाइन
3. फायर्ड मटिरीअल डिज़ाइन
• गैर-डिज़ाइन विषय में स्नातक 1 + 2 साल / 6 सेमेस्टर 45
विषय का चयन/निर्धारण

प्रवेश परीक्षा से पहले, उम्मीदवार को ऑनलाइन पंजीकरण फॉर्म में व्यक्तिगत और अन्य विवरण भरते समय विशेषज्ञता का चुनाव करना होगा।

प्रत्येक विशेषज्ञता (यानी एसएमएस, एचएमएस, एफएमएस) में से किसी एक के लिए छात्रों का चयन फाउंडेशन सेमेस्टर में उनके प्रदर्शन के आधार पर और उनके द्वारा दिखाई गयी योग्यता के आधार पर होगा। निर्णय आईआईसीडी द्वारा गठित समिति द्वारा लिया जाएगा (यह क्रमांक संख्या 1,2,4 पर लागू होता है)।


महत्वपूर्ण बिंदू
1. जो उम्मीदवार डिज़ाइन/आर्किटेक्चर स्नातक हैं, उन्हें प्रवेश परीक्षा उतीर्ण करने के बाद सीधे 2 साल के एम.डिज़ाइन कार्यक्रम में प्रवेश दिया जा सकता है।
2. उम्मीदवार जो डिज़ाइन/आर्किटेक्चर के अलावा किसी अन्य विषय से स्नातक हैं, वे आईआईसीडी द्वारा प्रस्तावित 1 वर्षीय स्नातकोत्तर फाउंडेशन पूरा करने के बाद एम.डिज़ाइन के लिए पात्र हैं, जिसका अर्थ है, गैर-डिज़ाइन पृष्ठभूमि वाले स्नातकों के लिए एम.डिज़ाइन 3 वर्ष का होगा।

  • यूजीसी मानदंडों के अनुसार आरक्षण नीति।
  • 2 वर्षीय/3 वर्षीय एम.डिज़ाइन कार्यक्रम के लिए सफल उम्मीदवारों के लिए एक अलग सूची घोषित की जाएगी। साक्षात्कार के समय स्क्रीनिंग की जाएगी।

नोटः आईआईसीडी शिल्प और डिज़ाइन में स्नातक और स्नातकोत्तर डिग्री कार्यक्रम की प्रत्येक विशेषज्ञता में सीटों की संख्या बढ़ाने या घटाने का अधिकार रखता है।

“ वे उम्मीदवार जो इसी वर्ष अपनी क्वालिफाइंग परीक्षा में बैठ रहे हैं, वे भी आवेदन कर सकते हैं। उनका प्रवेश अनंतिम होगा और उन्हें 31 अक्टूबर 2020 तक निर्धारित पात्रता प्राप्त करनी होगी। यदि कोई भी उम्मीदवार निर्धारित पात्रता प्रमाण पत्रों को निर्धारित तिथि तक जमा करने में विफल रहता है, तो वह आईआईसीडी में अपनी पढ़ाई जारी नहीं रख सकेगा। ऐसे मामलों में, सेमेस्टर ट्यूशन शुल्क वापस नहीं किया जाएगा, हालांकि नयी सेमेस्टर फीस के साथ प्रवेश अगले वर्ष के लिए मान्य होगा, बशर्ते परिभाषित पात्रता प्राप्त कर ली गयी हो। ”

ब. सीटों का आरक्षण

आरक्षण नीति यूजीसी के मानदंडों के अनुसार है। आमतौर पर, आईआईसीडी में प्रवेश के लिए विभिन्न श्रेणियों के आरक्षण प्रतिशत निम्नानुसार हैंः ओबीसी के लिए 27ः, एसटी के लिए 15ः और एससी के लिए 7.5ः और पीएच (शारीरिक विकलांग) उम्मीदवारों के लिए 3ः।

स. आवेदन पत्र भरना

आवेदन पत्र ऑनलाइनःhttps://www.iicd.ac.in/admission.php.पर भरना होगा। आवेदन पत्र केवल तभी स्वीकार किया जाएगा जब ऑनलाइन आवेदन पत्र में सभी आवश्यक फ़ील्ड भरे जाएंगे और संलग्नक नीचे उल्लिखित स्वीकार्य मानदंडों के भीतर ठीक से अपलोड किए गए होंगे। यदि आवेदन ठीक से भरा गया है और भुगतान ठीक से किया जाता है, तो आवेदक को भुगतान संदर्भ आईडी के साथ पुष्टिकरण ईमेल प्राप्त होगा। यदि ईमेल प्राप्त नहीं होता है, तो आवेदक से अनुरोध किया जाता है कि वह बैंक स्टेटमेंट/कार्ड ट्रांजैक्शन प्रूफ के साथadmissions@iicd.ac.in ,पद पर संपर्क करे। किसी मामले में, यदि अपलोड किए गए दस्तावेज़ स्वीकार्य सीमा के भीतर नहीं हैं, उम्मीदवार को स्वीकार्य प्रारूप में दस्तावेजों को फिर से भेजने के लिए एक ईमेल प्राप्त होगा, उसके बाद आवेदन पर कार्रवाई की जाएगी।


Download Pdf
Pay Fee