सॉफ्ट मटिरीअल डिज़ाइन

चमड़ा, कागज, नैचुरल फाइबर और टेक्सटाइल डिज़ाइनिंग पाठ्यक्रम

भारत में ऐसे कई उत्साही व्यक्ति हैं, जो चमड़े, कागज या कपड़े के डिज़ाइन कोर्स को करने के लिए तत्पर हैं। वे जयपुर में टेक्सटाइल डिज़ाइन और चमड़े के डिज़ाइन पाठ्यक्रम पढ़ाते हैं, जो राष्ट्र और यहां तक की दुनिया के शिल्प और डिज़ाइन उद्योग में नई ऊंचाइयों तक पहुंचने की सीढ़ी हैं। भारत में कई टेक्सटाइल डिज़ाइन कॉलेज मौजूद हैं। राजस्थान आईएलडी कौशल विश्वविद्यालय (आरआईएसयू) आईआईसीडी के सॉफ्ट मटिरीयल डिज़ाइन (एसएमडी) पाठ्यक्रम को मान्यता देता है, जो कि एक टेक्सटाइल डिज़ाइन कॉलेज है, जो टेक्सटाइल डिज़ाइनिंग, लेदर/चमड़ा, पेपर/काग़ज़, नैचुरल फाइबर में एक पूर्ण स्नातक डिग्री कार्यक्रम प्रदान करता है। यह पाठ्यक्रम 25 डिज़ाइन एस्पिरेंट्स को टेक्सटाइल, चमड़ा, कागज और नैचुरल फाइबर डिज़ाइनिंग सिखाता है, जिसमें उनकी रचनात्मक क्षमता को बढ़ाने पर निरंतर ध्यान दिया जाता हैं। विकसित सामग्रियों और तकनीकों की खोज करते हुए चमड़ा/कागज़/टेक्सटाइल डिज़ाइन पाठ्यक्रम पारंपरिक और अभिनव कौशल का उपयोग करते हुए मूल्यवान मार्गदर्शन प्रदान करता है।

स्नातक डिग्री कार्यक्रम की खोज कर रहे छात्रों के लिए, आईआईसीडी में सॉफ्ट मटिरीयल डिज़ाइन एक आदर्श विकल्प है। सामग्रियों और उनसे उत्पाद बनाने के बीच के रचनात्मक इंटरफेस का पता लगाने के लिए इस पाठ्यक्रम की पढ़ाई एक चुनौतीपूर्ण और गतिशील वातावरण की मांग करती है।

सॉफ्ट मटिरीयल्स की विशालता को ‘बॉडी’ और ‘स्पेस’ के सन्दर्भ में व्यक्त करने के लिए पेपर/टेक्सटाइल/लेदर डिज़ाइन पाठ्यक्रम कई बहुआयामी और सहयोगात्मक प्रयास करता है, जहाँः

  • बॉडी में फेब्रिक्स की सर्फेस/सतही डिज़ाइन और फैशन एक्सेसरीज़ और वस्त्रों के निर्माण शामिल है।
  • स्पेस के अंतर्गत बिल्ट एन्वाइरन्मेंट, इंटीरियर्स, घर के सामान, टेक्सटाइल फर्नीचर और एक्सेसरीज़ के लिए डिज़ाइन शामिल है।
 

टेक्सटाइल/लेदर/पेपर डिज़ाइनिंग में डिग्री देने के अलावा, आईआईसीडी में चार साल का कोर्स छात्रों को नैचुरल फाइबर्स, पेपर एंड पल्प, यार्न एंड फैब्रिक्स, लेदर और मिक्स्ड मीडिया जैसीसामग्रियों पर अपने अध्ययन को आधार बनाने के लिए प्रोत्साहित करता है। यह कार्यक्रम डिज़ाइनिंग में एक डिग्री प्रदान करता है, जो निम्नलिखित प्रासंगिक समकालीन मुद्दों को ध्यान में रखते हुए शिक्षण प्रदान करता है, जैसेः

  • बाजार का ज्ञान
  • उपलब्ध प्राकृतिक संसाधन
  • सत्तता,
  • ईको-डिज़ाइन
  • सांस्कृतिक विविधता और शिल्प की अभिव्यक्ति के साथ उत्पादन की सुविधा

भारत में सर्वश्रेष्ठ टेक्सटाइल डिज़ाइन कॉलेजों में से एक होने के नाते, आईआईसीडी छात्रों को जयपुर में टेक्सटाइल डिज़ाइन सिखाने के माध्यम से विभिन्न टेक्सटाइल्स और सामग्रियों की कार्यक्षमता और निर्माण की गहन समझ प्रदान करता है। यह छात्रों को उन प्रक्रियाओं और प्रौद्योगिकियों का पता लगाने में मदद करेगा जो एक समृद्ध व्यावहारिक अनुभव के साथ-साथ डिज़ाइन और निर्माण में उपयोग किए जाते हैं।

सॉफ्ट मटिरीयल डिज़ाइन कोर्स के तहत सिखाए जाने वाले लेदर डिज़ाइनिंग को लेदर डिज़ाइन इंडस्ट्री की मानव संसाधन आवश्यकताओं के अनुरूप संरचित और केंद्रित किया गया है और इसमें लेदर मटिरीयल संबंधित ज्ञान को डिज़ाइन अवधारणाओं/कंसेप्ट से मिलाने पर बल दिया जाता है।

आईआईसीडी सर्वश्रेष्ठ लेदर, नैचुरल फाइबर, पेपर और टेक्सटाइल डिज़ाइन पाठ्यक्रमों में से एक प्रदान करता है, जो छात्रों को डिज़ाइन और रेंज डेवलपमेंट, मर्चेंडाइजिंग, मैन्युफैक्चरिंग/निर्माण, खरीदारी और रिटेल से संबंधित ज्ञान प्रदान करता है। इसमें टेक्सटाइल/चमड़ा उद्योग में काफ़ी एक्सपोश़र होता है, और इसका बहु-विषयक दृष्टिकोण प्रोफाइल की विस्तृत श्रेणी को मजबूत करता है। इनके अलावा, एसएमए प्रोग्राम पेपर डिज़ाइनिंग और नैचुरल फाइबर डिज़ाइनिंग के ज्ञान को भी बढ़ाता है।

युवा डिज़ाइन छात्र, डिज़ाइन के मूल सिद्धांतों, पारंपरिक ज्ञान, आईटी टूल्स के संबंध में बड़े पैमाने पर ज्ञान प्राप्त करते हैं और उनको भारत में लेदर/नैचुरल फाइबर/पेपर/टेक्सटाइल डिज़ाइनिंग उद्योग का एक्सपोश़र प्राप्त होता है। भावी नियोक्ताओं में शिल्प उद्यम, फैशन ब्रांड, निर्यात घर, बायिंग हाउस, डिज़ाइनसंबंधी परामर्श सेवाएँ, एनजीओ शामिल हैं। छात्र अपने शिक्षण का उपयोग कर सकते हैं और निम्नलिखित क्षेत्रों में कैरियर बना सकते हैंः

  • शिल्प, फैशन और संबंधित उद्यमों में डिज़ाइनर।
  • शिल्प के क्षेत्र में कार्य करने वाले गैर-सरकारी संगठनों और संस्थाओं में सहायक के पद पर।
  • देश में वैश्विक समूहों और शिल्प समुदायों के बीच लिंकेज नोड्स।

अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न

प्रश्न. सॉफ्ट मटिरीयल डिज़ाइन कोर्स क्या है?
एसएमडी के तहत, एक छात्र को टेक्सटाइल, फैब्रिक, चमड़े, कागज और नैचुरल फाइबर के साथ काम करने के लिए प्रशिक्षित किया जाता है। एसएमडी सामग्रियों का उपयोग करते हुए, एक छात्र को विभिन्न उत्पादों को डिज़ाइन करना सिखाया जाता है।
प्रश्न. आईआईसीडी में सॉफ्ट मटिरीयल डिज़ाइन कोर्स के तहत क्या पढ़ाया जाता है?
आईआईसीडी अपने छात्रों को एक बेहतरीन पाठ्यक्रम प्रदान करता है, जो उन्हें चमड़े, कागज और नैचुरल फाइबर का उपयोग करके विभिन्न उत्पादों के डिज़ाइन और निर्माण में मदद करता है। एक अच्छे पाठ्यक्रम के साथ, छात्रों को व्यावहारिक एक्सपोश़र मिलता है, जो उन्हें प्रतिस्पर्धी दुनिया में मजबूती से खड़ा रहने में मदद करता है।
प्रश्न. एसएमडी कोर्स के लिए आईआईसीडी में कुल कितनी सीटें उपलब्ध हैं?
एसएमडी को चार साल की अवधि में पढ़ाया जाता है, और इस कोर्स में 25 छात्रों को दाखिला दिया जाता है।
प्रश्न. एसएमडी कोर्स पूरा करने के बाद क्या स्कोप है?
एसएमडी कोर्स पूरा करने के बाद एक छात्र के पास कई तरह की गुंजाइश होती है। वे फैशन उद्योग, शिल्प उद्योग में नौकरी कर सकते हैं, बड़ी खुदरा कंपनियों के साथ काम कर सकते हैं, या अपना खुद का व्यवसाय भी शुरू कर सकते हैं।
प्रश्न. एसएमडी कोर्स के लिए आईआईसीडी को चुनना क्यों बुद्धिमानी है?
आईआईसीडी से एसएमडी कोर्स पूरा करना एक शानदार कैरियर विकल्प साबित होगा। ऐसा इसलिए है, क्योंकि चार वर्षीय पाठ्यक्रम में, एक छात्र सभी सामग्रियों और उनकी निर्माण प्रक्रियाओं के बारे में विस्तार से सीखता है। सैद्धांतिक ज्ञान के अलावा, एक व्यक्ति व्यावहारिक एक्सपोश़र भी प्राप्त करता है।
Pay Fee